हमारी कोशिश है एक ऐसी दुनिया में रचने बसने की जहाँ सत्य सबका साझा हो; और सभी इसकी अभिव्यक्ति में मित्रवत होकर सकारात्मक संसार की रचना करें।

Sunday, April 20, 2008

INTEGRITY TEST

मेरे एक सीनियर ने मुझे एक शुभकामना संदेश भेजा। इस प्रिंटेड कार्ड पर जो सामग्री लिखी हुई थी वह मेरे लिए बहुत सहायक सिद्ध हुई है। दरअसल, मुझे अपने घर परिवार और शुभेच्छुओं के बीच अक्सर असहज होना पड़ता था जब मैं उनकी निगाहों में 'दुनियादारी' की बातें समझने और उनका पालन करने में अक्षम साबित होता था। अब मुझे इससे बहुत संबल मिला है। मूल लेखक के प्रति सादर आभार अर्पित करते हुए इस संदेश को हुबहू प्रस्तुत कर रहा हूँ .
People really need help but may
attack you, if you do help them.
Help people anyway.
If you do good, People will accuse you
of selfish ulterior motives;
Do good anyway.
The good you do today
will be forgotten tomorrow;
Do good anyway.
If you are successful,you will win
false friends and true enemies;
Succeed anyway.
Honesty and frankness,
make you vulnerable;
Be honest and frank anyway.
Give the world the best you have
And you'll get kicked in the teeth;
Give the world the best you have anyway.
- Kent. M. Keith

No comments:

Post a Comment

आपकी टिप्पणी हमारे लिए लेखकीय ऊर्जा का स्रोत है। कृपया सार्थक संवाद कायम रखें... सादर!(सिद्धार्थ)